Wednesday, October 5, 2022
HomePersonality DevelopmentSelf Discipline में कैसे रहें? How to Develop Self Discipline in Hindi

Self Discipline में कैसे रहें? How to Develop Self Discipline in Hindi

हम अपनी लाइफ में बहुत कुछ हासिल करना चाहते है और उसके लिए अपने लक्ष्य को भी तय करते है और सही से योजना भी बनाते है पर एक चीज़ की कमी की वजह से काफी सारे लोग जीवन में वो मुकाम हासिल नहीं कर पातें जो वो पाना चाहते है और वो है self discipline यानिकि आत्म अनुशासन|

आप चाहे कितना भी प्रयास करो लेकिन अगर आप में self discipline ही नहीं है तो आप अपने ज़रूरी काम को समय पर पूरा नहीं कर पाओगे, आपके अंदर आत्म अनुशासन और self control की कमी होगी, आप चीज़ों को बस टालते रहोगे और अपने कीमती समय को गवा दोगे|

इसलिए आज इस आर्टिकल के ज़रिये हम आप को कुछ ऐसी ज़रूरी बातें बताने जा रहे है जिससे की आप self discipline में रह पाओगे, अपने काम समय पर पुरे कर पाओगे और अपने योजना के मुताबिक़ लाइफ में आगे भी बढ़ पाओगे|

Self discipline meaning in hindi

  • Self discipline यानिकि आत्म अनुशासन का मतलब अपने आपके ऊपर नियंत्रण (Control) रखना और अपने आप को कुछ नियमों में बांधना ताकि आप सिर्फ वही फोकस रख सकें, वही एक्शन ले सकें और वही काम कर सकें जो आपके लिए सबसे ज्यादा ज़रूरी है|

Self discipline (आत्म अनुशासन) में रहना क्यों ज़रूरी है?

Self discipline में रहना ज़रूरी है क्योंकि…

1) अपने सारे ज़रूरी काम वक़्त पर पुरे करने के लिए|

2) अपने तय किये गए लक्ष्य को हासिल करने के लिए|

3) खुद पर नियंत्रण रखने के लिए|

4) खुद को बेहतर बनाने के लिए|

5) अपने आने वाले भविष्य को बेहतर बनाने के लिए|

Self discipline (आत्म अनुशासन) में रहने के तरीके

1) विकर्षण (Distraction) से दूर रहो:

  • अगर self discipline में रहना है तो सबसे पहले आपके आस पास जो distraction है उनसे आप को दूर होना होगा जैसे की सोशल मीडिया, मोबाइल गेम्स, कुछ बुरी आदतें या ऐसी और भी कई सारी चीज़ें जिनकी वजह से आपका ध्यान भटकता है और आपका कीमती समय जाया होता है और आप आत्म अनुशासन में नहीं रह पाते हो| इसलिए आपके आस पास के distractions से दूर रहो|

2) अपने लक्ष्य तय करो:

  • आप अपने जीवन में क्या पाना चाहते हो या फिर जीवन में आपने कौन कैसे से लक्ष्य तय किये है इसके बारे में सोचिये और अगर अभी तक कोई लक्ष्य तय नहीं किये है तो पेन और पेपर उठाकर अपने लक्ष्य को लिखिए क्योंकि जब तक आप पाने जीवन में कोई लक्ष्य नहीं बनाते तब तक आप आत्म अनुशासन में नहीं रह सकते क्योंकि जब आप को अपने लक्ष्य पता होते है तब आप को अपने जीवन में एक दिशा (Direction) मिलती है और जीवन में आगे बढ़ने के लिए एक प्रेरणा मिलती है और इस वजह से आप आत्म अनुशासन में रह पाते हो|

3) To do list बनाओ:

self discipline To do list बनाये

  • रात को सोने से पहले अगले दिन आप को कौन कौनसे ज़रूरी काम करने है उनकी एक लिस्ट बना लीजिये और साथ ही साथ हर एक काम के लिए एक समय सीमा निश्चित कीजिये और हर एक काम उसी निश्चित की गए समय में पूरा करें| इससे आपके सारे ज़रूरी काम समय पर पुरे हो जाएंगे और आप अपने जीवन में एक self discipline maintain कर पाओगे|

4) छोटे छोटे steps लो:

  • नए काम की या किसी भी मुश्किल काम की शुरुवात छोटे छोटे steps लेकर करें जैसे की अगर आप को रोज़ सुबह उठकर exercise करनी है और अगर आप पहले ही दिन एक घंटा exercise करने की सोचते हो तो ये आपके लिए मुश्किल सा लगेगा और फिर आप को exercise करने का मन नहीं करेगा और आप बहुत ही जल्द थक जाओगे क्योंकि आप को exercise करने की आदत नहीं है|
  • लेकिन वही अगर आप पहले दिन एक घंटे की जगह सिर्फ 10 मिनट exercise करने की सोचते हो तो इसे आप आसानी से कर पाओगे और अगले दिन 15 मिनट और ऐसे ही धीरे धीरे अपने capacity हिसाब से आप अपने exercise का समय बढ़ा सकते हो| छोटे steps से शुरुवात करने पर आप को उस चीज़ की habit बन जाती है और आप आत्म अनुशासन के साथ उस चीज़ को करने लगते हो|

5) परिणामों के बारे में सोचो:

  • अगर आप आत्म अनुशासन में नहीं रह पा रहे हो तो आप भविष्य इसके की परिणाम हो सकते है इसके बारे में सोचें जैसे की अगर आपने अपना समय अपने को लक्ष्य पाने में लगा दिया है तो भविष्य में आप को इसके अच्छे परिणाम मिलेंगे लेकिन अगर आप अपना समय इधर उधर की चीज़ों में यूँही जाया कर रहे हो तो आप अपने जीवन में अपने लक्ष्य को याफिर उस मुकाम को हासिल नहीं कर पाओगे जिसे पाने के आपने सपने देखे है|
  • तो ये बात आप को समझमें आणि बहुत ही ज़रूरी है क्योंकि इसी की वजह से कही न कही आपके मन में असफल होने का डर पैदा होगा और इसी डर के कारण आप आत्म अनुशासन में रह पाओगे|

6) अपनी इच्छाशक्ति को बढ़ाओ:

self discipline इच्छाशक्ति

  • आप को पता है इच्छाशक्ति एक ऐसी चीज़ है जिसके दम पर आप बड़े से बड़े नामुमकिन लगने वाले भी काम कर सकते हो या फिर बड़े से बड़े लक्ष्य को हासिल कर सकते हो| इसलिए आप अपने जीवन में जो भी पाना चाहते हो उसे पूरी शिद्दत के साथ पाने की कोशिश करो और उस लक्ष्य को पाने के लिए अपने अंदर की इच्छाशक्ति को जगाओ| इच्छाशक्ति के कारण आपके अंदर एक उस चीज़ को पाने के लिए एक मोटिवेशन बनी रहेगी और इस वजह से आप आत्म अनुशासन में भी रह पाओगे|

7) अपने आप को कमिटमेंट दो:

  • आज तक आपने लाइफ में जितनी भी struggle की है उन्हें याद करो, जिन लोगों ने भी आपका मज़ाक उड़ाया है या आप को कमजोर समझकर दबाने की कोशिश की है उन्हें याद करो और खुद को ये कमिटमेंट दो की आप अपने दम पर अपनी लाइफ successful होकर दिखाओगे और अपनी success के ज़रिये उन सब को करारा जवाब दोगे|
  • याद रखो आप को यहाँ पर किसी से बदले की भावना नहीं रखनी है बल्कि आप जब successful हो जाओगे तब वो सब लोग जिन्होंने आप को कमजोर समझा वो आपकी success को देख कर शर्मिंदा हो जाएंगे| खुद को कमिटमेंट देने के कारण आपकी इच्छाशक्ति बढ़ेगी और आप self discipline के साथ, नए जोश और फोकस के साथ अपने लक्ष्य पर काम कर पाओगे|

8) स्वयं को इनाम दो (Reward yourself):

self discipline इनाम दो

  • कोई भी छोटी या बड़ी कामियाबी के बाद खुद को इनाम दो और खुद की तारीफ करो क्योंकि इससे आप को अंदर से ख़ुशी का एहसास होगा, आपका self confidence बढ़ जाएगा और जीवन में आगे बढ़ने के लिए अंदर से एक मोटिवेशन मिलेगी| इस वजह से आप और ज्यादा कामियाब होने के बारे में सोचोगे और self discipline के साथ काम करोगे| इसलिए छोटे बड़े achievements के लिए अपने आप को इनाम देना भी ज़रूरी है|

9) अपने लिए एक मेंटर चुनो:

  • एक ऐसा मेंटर यानिकी टीचर अपने लिए चुनिए जो आपके लक्ष्य को पाने में आपको सही से मार्गदर्शन (Guidance) कर सकें, आप को सही सलाह दे सकें, आपकी कमजोरियों और आपकी खूबियों के बारे में आप को बता सकें, आप को अपनी गलतियों के बारे में बता सकें और आपके प्रगति (Progress) के बारे में बता सकें| मेंटर होने पर आप एक सही दिशा में आगे बढ़ पाओगे और अपने self discipline को भी maintain कर पाओगे|

10) अपने आप को बदलो:

  • आप आज जो भी है वो अपनी रोज़मर्रा की आदतों की वजह से और अपने मानसिकता (Mindset) की वजह से है| अगर आपकी आदतें ही सही नहीं है और अगर आप में जीवन में आगे बढ़ने की, कुछ कर दिखाने की या फिर बड़ा सोचने की मानसिकता ही नहीं है तो self discipline में रहने के लिए आप को अंदर से मोटिवेशन ही नहीं मिलेगा|
  • इसलिए अपनी आदतों को सही करो, अपनी मानसीकता बदलो और साथ ही साथ अपनी कमजोरियों पर काम कर के अपने आप को बदलने की कोशिश करो|

Conclusion

तो आज इस आर्टिकल के ज़रिये हमने self discipline के बार में जाना| Self discipline में रहने के लिए इच्छशक्ति, खुद से commitment, जीवन में कोई लक्ष्य का होना और विकर्षण (Distraction) से दूर रहना कितना ज़रूरी है  इसके बारे में भी जाना|

इन्हे भी पढ़े

सेल्फ स्टडी कैसे करे? Self Study Tips in Hindi

खुद को कंट्रोल कैसे करें – 9 आसान टिप्स

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो| Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments