Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle Book Summary in Hindi

  • Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle Book Summary in Hindi | नमस्कार दोस्तों SelfhelpinHindi.com पर आप सभी का स्वागत है। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हम सभी का जीवन संघर्षों से भरा हुआ है। हर दिन हम अपने कामों में इतना ज्यादा उलझे रहते हैं कि हमको पता ही नहीं होता है कि हमको कौन-कौन से कार्य करने हैं।
  • हम अपना ज्यादातर समय ऐसे कार्य में बर्बाद करते रहते हैं जो हमारे लिए महत्वपूर्ण नहीं होता है और कौन कार्य को अगले दिन पर डालते रहते हैं जो कार्य करना जरूरी होता है। जैसे कि यदि आप एक विद्यार्थी है तो आपके लिए पढ़ाई करना महत्वपूर्ण होता है। अब आप जो पढ़ाई कर रहे हैं, उसका परिणाम आपको एक साल बाद आने वाला है तो आप सोचते हैं कि क्यों न आज मजे किए जाएं और उस चक्कर में आप पढ़ाई नहीं करते हैं, जिसकी वजह से आपको अच्छे परिणाम नहीं मिलते हैं।
  • किसी भी कार्य को अगले दिन पर डालने से आप मानसिक रूप से भी कमजोर बनते चले जाते हैं। आज के समय में 99% से ज्यादा लोगों की यह समस्या है कि वे अपने जरूरी कार्य को समय पर पूरा नहीं कर पाते हैं, जिसकी वजह से उनको काफी ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो यदि आपकी भी यह समस्या है और आप भी समय से अपने कार्य पूरा नहीं कर पाते हैं तो ब्रायन ट्रेसी के द्वारा लिखी गई एक बहुत ही बेहतरीन पुस्तक Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle Book Summary in Hindi " आपको एक बार अवश्य पढ़नी चाहिए।
  • इस पुस्तक के माध्यम से लेखक कुछ ऐसी आदतों और कार्य के बारे में बताते हैं। जिनको यदि कोई अपनाता है तो वह निश्चित ही अपने सभी जरूरी कार्य को समय से पहले ही पूरा कर लेगा। इस पुस्तक के माध्यम से आपको यह सीखने को मिलता है कि जीवन में सबसे जरूरी कार्य क्या होते हैं और उन कार्यों को पूरा करने से आपको क्या परिणाम मिलते हैं।
  • यदि आप भी जानना चाहते हैं तो इस पुस्तक  Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle ; के कुछ महत्वपूर्ण points के बारे में हमने आगे आपके साथ जानकारी साझा की है। जिनको आपको अवश्य पढ़ना चाहिए। तो चलिए जानते हैं।

Eat the Frog का मतलब क्या है? (Meaning of Eat the
Frog)

  •  सबसे मुश्किल काम सबसे पहले पुस्तक के लेखक ने इस पुस्तक का नाम the Frog रखा है। आपको सुनकर थोड़ा सा अजीब लग रहा होगा लेकिन इस पुस्तक को लेखक ने एक कहावत की तरह लिया है। जिसमे Frog का मतलब कठिन कार्य से होता है।
  •  इस पुस्तक के माध्यम से लेखक कहते हैं कि एक मेंढक को खाना जितना मुश्किल कार्य होता है, ठीक उसी तरह से हम सभी के जीवन में अनेकों ऐसे कठिन कार्य होते हैं, जिनको करना हमारे लिए मुश्किल होता है।
  • इस बात पर लेखक कहते हैं कि यदि आप किसी भी कठिन कार्य को करने की शुरुआत करते हैं तो सबसे पहले आपको मेंढक को निग़लना है। यानी कि आपको सबसे पहले मुश्किल कार्य को करना है, उसके बाद में आपको आसान कार्य को करना चाहिए। ऐसा करने पर आप मानसिक रूप से तैयार रहते हैं। इस बात को और अच्छे से समझाने के लिए लेखक 2 नियमों का उदाहरण देते हैं।
  •  सबसे पहले नियम में लेखक बताते हैं कि यदि आपको कोई कठिन कार्य लगता है तो सबसे पहले उस कार्य को करें। जैसे कि अगर आपको कोई भी दो मेंढक खाने होते हैं तो सबसे पहले आपको खराब मेंढक को खाना चाहिए। उसके बाद आपको अच्छे मेंढक को खाना चाहिए यानी कि आपको सबसे पहले मुश्किल से मुश्किल
    कार्य को करना चाहिए। उसके बाद आपको आसान कार्य करना चाहिए।
  •  दूसरे नियम लेखक बताते हैं कि यदि आपको एक जिंदा मेंढक निगलना है तो उसमें देखते रहने से कुछ नहीं होता है। आपको तुरंत मेंढक को निगलना चाहिए। यानी कि जो कार्य आपको कठिन लग रहा है, उस कार्य को बैठकर देखने से या सोचने से कुछ नहीं होता है बल्कि आपको सही समय पर एक्शन लेना चाहिए।
  •  इसके अलावा लेखक ने इस पुस्तक में कई और महत्वपूर्ण बातें बताई है जो आप सभी के लिए जानना बेहद जरूरी है तो आगे चलकर हम आपके साथ उन सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर एक-एक करके बात करने वाले है।

Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle Book Summary in
Hindi

1) सबसे पहली लक्ष्य निर्धारित करें –

sabse mushkil kaam sabse pehle book summary in hindi

  •  इस पुस्तक के लेखक बताते हैं कि जीवन में किसी भी कार्य को करने से पहले आपको कार्य को निर्धारित करना चाहिए। आपको अपना लक्ष्य बनाना चाहिए। यदि लक्ष्य स्पष्ट होता है तो आपके लिए मंजिल हासिल करना आसान कार्य हो जाता है। आपको पता होता है कि आपको जीवन में क्या हासिल करना है। फिर आप उसी दिशा में कार्य करते हैं। बिना लक्ष्य निर्धारित किये आप गलत दिशा में अपनी ऊर्जा को बर्बाद करते रहते हैं।
  • आपने देखा होगा कि जो लोग अपने कार्य में काफी ज्यादा तेज होते हैं और जो कम समय में अपने कार्य को पूरा करते हैं, उनके अंदर आपको एक बात स्पष्ट मिलती है कि वे अपना लक्ष्य निर्धारित करते हैं, उसके बाद उस लक्ष्य को पूरा करने के लिए दिन रात मेहनत करते हैं, उनको पता होता है कि लक्ष्य निर्धारित करने के बाद क्या-क्या कार्य करनी पड़ते है।
  • इस पुस्तक में लेखक कहते है कि ज्यादातर लोग अपने कार्य को इसीलिए टालते रहते हैं क्योंकि उनके जीवन में कोई भी लक्ष्य नहीं होता है। उनको पता ही नहीं होता है कि किस समय पर किस कार्य को पूरा करना है। सिर्फ बैठकर बातें बनाते रहते हैं और दूसरों के कार्य में उंगलियां करते रहते हैं।

लेखक लक्ष्य निर्धारित करने के 7 Steps बताते हैं जो कि इस प्रकार से है।

1) पहले स्टेप्स में लेखक बताते हैं कि सबसे पहले यह निर्धारित करें कि आप जीवन में
क्या हासिल करना चाहते हैं।
2) दूसरे स्टेप्स में अपने जरूरी लक्ष्य को एक कागज पर अवश्य लिखें।
3) तीसरे स्टेप्स में कितने समय में आप अपने लक्ष्य को हासिल करना चाहते।
4) चौथे स्टेप में अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्लानिंग बनाये।
5) पांचवे स्टेप में अपने सभी जरूरी कार्यों की एक सूची अवश्य बनाएं।
6) छठे स्टेप में अपनी प्लानिंग को पूरी करें।
7) सातवें स्टेप्स में आपको यह निर्धारित करना है कि ऐसा क्या है जो आपको उस लक्ष्य
तक लेकर जायेगा।

2) जरूरी कार्यों की योजनाएं बनाएं-

sabse mushkil kaam sabse pehle book summary in hindi

  • आप किसी भी कार्य को समय पर तुरंत अभी कर सकते हैं, जब आप उस कार्य की पूरी योजना बनाते हैं और उस योजना को पूरा करने के लिए आपको सबसे पहले एक कागज पर पूरे दिन की प्लानिंग लिखनी चाहिए। तब जाकर आप शाम तक आप अपने सभी जरूरी कार्यों को पूरा कर पाते हैं।
  • इस दुनिया में ज्यादातर लोग कभी भी अपने दिन की प्लानिंग नहीं बनाते हैं, जिसकी वजह से उनके सभी जरूरी कार्य छूट जाते है तो आपके साथ ऐसा ना हो इसके लिए सबसे पहले आपको अपने पूरे दिन की प्लानिंग बनानी चाहिए और
    उस प्लानिंग में सबसे मुश्किल कार्य को सबसे पहले लिखना चाहिए। ताकि आप जल्द से जल्द जरूरी कार्यों को पूरा कर सकें और अपने अगले दिन की प्लानिंग बना सके। सबसे मुश्किल कार्य को सबसे पहले करने पर मानसिक तनाव कम होता है, शारीरिक ऊर्जा बढ़ती है और आपको अच्छा लगता है।

3) 80/20 के नियम को Follow करे –

  • इस पुस्तक के लेखक बताते हैं कि हमारे 20% ऐसे कार्य होते हैं जो हम को 80% परिणाम देते हैं और हमारे 80% कार्य ऐसे होते हैं जो हमको सिर्फ 20% परिणाम देते हैं। अब आपके लिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि आप किन कार्यों को पूरा कर रहे हैं, यदि आप ऐसे कार्य को पूरा कर रहे हैं जो सिर्फ आपको 20 प्रतिशत
    परिणाम दे रहे हैं तो आपके लिए उस कार्य को करना व्यर्थ होता है।
  • यदि आप ऐसे कार्य कर रहे हैं जो आपको 80% परिणाम देते हैं तो ऐसे कार्य आपके लिए फायदेमंद होते हैं तो उन कार्य को सबसे पहले खत्म करना चाहिए और अपनी कार्य सूची में सबसे पहले ऐसे ही कार्य को शामिल करना चाहिए जो आपके लिए करना जरूरी होते हैं और जिनका परिणाम आपको कई गुना ज्यादा
    मिलता है।

4) कार्य करने की क्षमता बढ़ाये –

  •  समय पर कार्य को पूरा करने के लिए आपको कुछ ऐसी तकनीक का इस्तेमाल करना चाहिए जो आपको उस कार्य को करने के लिए प्रेरित करें या फिर आप आसानी से कुछ कार्य को कर सके। यदि आप किसी भी ऐसे कार्य को करते हैं जो आपके लिए करना मुश्किल होता है और उस कार्य को करने में आपको प्रयास बहुत ज्यादा लगाने पड़ते हैं तो शायद आपके अंदर मोटिवेशन खत्म हो जाता है।
  • यदि आप अपनी क्षमता को बढ़ाते हैं और कार्य करने के तरीकों को बदलते हैं तो शायद आप उस कार्य में मनोरंजन भी के साथ-साथ उस कार्य को समय पर पूरा कर सकते हैं। आपको हर दिन अपने कार्य को थोड़ा-थोड़ा करते रहना चाहिए और उस कार्य में कुछ नया सीखते रहना चाहिए। कुछ समय बाद आप देखेंगे कि उस कार्य के आप पक्के खिलाड़ी बन जाते हैं और आप आसानी से कुछ समय में ही
    मुश्किल से मुश्किल कार्य को भी पूरा कर लेते हैं।

5) काम को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लें –

sabse mushkil kaam sabse pehle book summary in hindi

  • जब आप अपने लिए एक बड़ा लक्ष्य निर्धारित करते हैं और उस लक्ष्य को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करते हैं और किसी कारणवश उस लक्ष्य को आप पूरा नहीं कर पाते हैं तो आप निराश होते चले जाते हैं आप सोचते हैं कि मैं इस कार्य को पूरा नहीं कर सकता हूं। दोस्तों मैं आपको बताना चाहता हूं कि आप कभी भी उस कार्य को पूरा कर ही नहीं सकते हैं।
  • क्योंकि आपने अपने लिए एक ऐसा लक्ष्य निर्धारित कर लिया है जो शायद आपके लिए पाना मुश्किल होता है लेकिन यदि आप अपने बड़े लक्ष्य को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लेते हैं और फिर छोटे-छोटे लक्ष्य पूरा करना शुरू कर देते हैं तो एक दिन आप अपने बड़े लक्ष्य को भी आसानी से पूरा कर पाते हैं।
  • यदि आपको लगता है कि आप एक साथ बड़े लक्ष्य को पूरा नहीं कर सकते हैं तो आप को छोटे-छोटे टुकड़ों में अपने कार्य को बांटना चाहिए और फिर उसके बाद उस कार्य को पूरा करना चाहिए।

इन्हे भी पढ़ें

निष्कर्ष (Conclusion)-

  • आज हम सभी ने जाना है " Sabse Mushkil Kaam Sabse Pehle Book Summary in Hindi " उम्मीद करते हैं कि आपको इस पुस्तक की जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी। यह पुस्तक कहीं ना कहीं Time Management Book in Hindi के साथ जुड़ी हुई है जो हमको यह बताती है कि जीवन में आपको क्या
    कार्य को पहले पूरा करना चाहिए।
  • यदि आप सही समय पर सही कार्य को पूरा कर पाते हैं तो आप इंटेलिजेंट लोगों की गिनती में आते हैं। यदि आप फालतू के कार्य में अपना समय बर्बाद करते हैं तो आप ना तो कभी सफलता को प्राप्त कर सकते हैं और ना ही जीवन में आगे बढ़ सकते हैं। इसीलिए अपने टालमटोल की आदत को छोड़ने के लिए इस पुस्तक “Eat the Frog“ को एक बार अवश्य पढ़ें, धन्यवाद।

Leave a Reply