Phone पर बात कैसे करें? जानिए 8 तरीका फोन पर बात करने के लिए

हम सभी फोन पर बातें करते है उनमे से ज्यादातर फोन हमारे जान पहचान वाले होते है तो कुछ कॉल unknown होते है।लेकिन यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये है की हम फोन पर बात कैसे करे?  क्योंकि ऐसे बहुत से लोग जिन्हें इस बारे में पता ही नहीं होता की फोन पर बात कैसे करते है? और इस वजह से उन्हें छोटी बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है जैसे की सामने वाले की बातों को ठीक से ना समझना या ठीक तरीके से बात ना करना याफिर फोन पर बातचीत करते वक़्त basic manners का ध्यान नहीं रखना वगैरह वगैरह।तो आज के इस आर्टिकल में हम इन्ही सारी चीज़ों के बारे में अच्छे से जानने की कोशिश करेंगे ताकि आप भी सही तरीके से फोन पर बात करना सीख जाए।   

फोन पर बात करने का तरीका

1) बातों को अच्छे से सुने: 

बातों को अच्छे से सुने

जब भी आप फोन उठाये तो सामने वाला इंसान क्या कहना चाहता है इस बात को ध्यान से सुने और उसे बिच में ना टोके। जब उसकी बात ख़त्म हो जाए तब आप अपनी बात बोले।इससे फोन पर आपकी जिसके साथ बात हो रही है सही तरीके से हो पाएगी और दोनों एक दूसरे की कही गयी बातों को अच्छे से समझ भी जाएंगे।

2) क्या बात करनी है ये पहले से तय करे: 

कभी कभी ऐसा होता है की हम किसी को कोई ज़रूरी बात कहने के लिए उससे फोन पर बात करते है लेकिन ऐन वक़्त पर हम कुछ important बातें बोलना भूल जाते है या कुछ बातें सही तरीके से उनसे कह नहीं पातें तो ऐसे में सामनेवाला हमारी बातें अच्छे से समझ नहीं पाता।

इसलिए जब भी आप कोई important फोन कर रहे हो तो क्या क्या चीज़ें बोलनी है, किस किस points पर discussion करना है ये पहले से ही एक कागज की पर्ची पर याफिर अपनी डायरी में लिख ले और फोन पर बात करते समय उसे अपने सामने रखें ऐसा करने से आप जो भी important बातें करना चाहते है वो अच्छे से कर पाएंगे।     

3) फोन करने का उद्देश्य जानें: 

फोन पर बातचीत के दौरान ये बात जान लेनी बेहद ज़रूरी है की फोन किस उद्देश्य से किया गया है वैसे ही अगर आप किसी को फोन कर रहे हो तो आपको भी ये बात साफ़ साफ़ पता होनी ज़रूरी है की आप किस उद्देश्य से किसी को फोन कर रहे हो,क्योंकि जब हम फोन करने का उद्देश्य जान लेते है तब फोन पर बातचीत के दौरान की गयी important बातें या important संदेश (Message) को हम अच्छे से याद रख पाते है और जब हम किसी को फोन करते है और हमें फोन करने का उद्देश्य साफ साफ मालूम होता है तब हम अपनी बात सामनेवाले को अच्छी तरह से बता सकते है।  

4) अच्छे से बात करें: 

अच्छे से बात करें

जब आप फोन पर बात कर रहे होते है तो ना सिर्फ आपसे फोन पर बात करने वाला व्यक्ति आपको सुन रहा होता है बल्कि आस पास के लोग भी आपको सुन रहे होते है। इसलिए फोन पर बात करते वक़्त अपनी आवाज़ ऊँची कर के या बत्तमीज़ी से बात ना करें बल्कि नम्रता या सभ्यता (Civility) के साथ बात करें,बात करते वक़्त हर एक शब्द स्पष्ट बोलें,pronunciation का ध्यान रखें और ज्यादा घुमा फिरा के बात ना कर के आपको सीधा मुद्दे की बात करनी है। 

5) आसपास ज्यादा शोर शराबा ना हो: 

जब भी आप किसी के साथ फोन पर बात कर रहे हो तो ये बात ध्यान में रखो की आपके पास ज्यादा शोर शराबा ना हो क्योंकि अगर आपके आसपास ज्यादा शोर शराबा होगा तो आप सामनेवाले की बात अच्छे से सुन नहीं पाएंगे तो ऐसे में बेहतर यही होगा की जब भी आपके आस पास शोरशराबा हो और ऐसे में आपको कोई फोन आ जाए तो आप उस शोरशराबे से थोड़ा जाकर बात करें।   

6) ये बात भी ध्यान में रखें: 

जब आप फोन पर ऐसी बातें शेयर कर रहे है जो अगर किसी को पता लग गयी तो वो आपका फायदा उठा सकता है जैसे की OTP number,कोई password या अन्य कोई गोपनीय (Confidential) बातें याफिर आपके लाइफ से जुडी या जो आपको फोन पर बात कर रहा है उससे जुडी  याकिसी और के लाइफ से जुडी पर्सनल बातों के बारे में बता रहा है तो आप किसी जगह पर जाकर बात करें जहा पर आपकी बातें कोई ना सुन सकें और हो सके तो इस तरह की बातचीत के दौरान धीमी आवाज़ में बात करें। 

7) एक छोटासा मैसेज करें: 

कई बार ऐसा भी होता है की हम किसी ऐसी जगह पर होते है या किसी ऐसी situation में होते है जहा पर की हम किसी का फोन नहीं उठा सकते तो ऐसे में कोई फोन आ जाए तो तुरंत ही उन्हें एक छोटासा मैसेज भेजना है जैसे की “Can’t talk text me”,I’ll call you right back”,In a meeting call you right back”ऐसे मैसेज आप कर सकते हो और फिर जैसे ही आप अपने important काम से free हो जाए तब याद से उस व्यक्ति को फोन करें। 

8) Important बातों को लिखें याफिर record करें: 

Important बातों को लिखें याफिर record करें

फोन पर बातचीत करते वक़्त सामने वाले की बातें तो अच्छे से सुनना ही है लेकिन साथ ही साथ अगर सामनेवाला कुछ important बातें बता रहा है तो उन बातों को आपको लिख लेना है ताकि अगर आप फोन पर हुयी बातों को भूल भी जाओगे तो भी आपके पास में उस बातचीत के दौरान जो important बातें बताई गयी है वो लिखित स्वरूप में available होगी। अगर आप चाहो तो कोई important फोन आने पर उस  बातचीत को record भी कर सकते हो ताकि दोबारा आपको जब कभी भी ज़रूरत पड़े तो आप उन बातों को सुन सको।  

Conclusion

तो आज के इस आर्टिकल में हमने जाना की ” फोन पर बात कैसे करे? “ जिसमें फोन करने के उद्देश्य के बारे में जानना,सभ्यता के साथ बात करना,फोन पर क्या बात करनी है ये पहले से तय करना,अच्छे से सुनना,आपके आसपास ज्यादा शोर शराबा ना हो ये ध्यान रखना,कुछ पर्सनल या फिर गोपनीय (Confidential) बातें करते वक़्त किसी ऐसी जगह पर जाना जहा पर आपको सुनने वाला कोई ना हो,अगर फोन नहीं उठा सकते हो तो एक छोटासा मैसेज कर के बाद में उस व्यक्ति को फोन करना और अगर कोई important फोन है तो उन बातों को आप लिख सकते हो याफिर सीधा कॉल रिकॉर्डिंग भी कर सकते हो ताकि ज़रूरत पडने पर आप उन बातों को दोबारा सुन सको। ये सभी बातें इसमें शामिल थी तो आप भी इन बातों को ज़रूर फॉलो करें ताकि फोन पर बातचीत करते वक़्त आपसे भी कोई गलती ना हो पाए।   

इन्हे भी पढ़े

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना।

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो। Thank you, stay connected & love you guys…

Leave a Comment