Sunday, October 2, 2022
HomePersonality Development10 Best Tips For Personality Development in Hindi

10 Best Tips For Personality Development in Hindi

जीवन में ऐसी बहुत सारी बातें है जो हमें स्कूल या फिर कॉलेज में सिखाई नहीं जाती और सिखाई जाती भी है तो उतना अच्छे से और गहराई से सिखाई नहीं जाती और उस चीज़ को अपने जीवन में कैसे उतारना है ये भी सिखाया नहीं जाता| Personality development भी एक ऐसी चीज़ है जो हमारे लिए बहुत important है पर आज भी स्कूल और कॉलेज में इसके बारे में अच्छे से पढ़ाया नहीं जाता|

पढ़ाई ख़त्म होने के बाद स्टूडेंट्स के पास नॉलेज तो होती है लेकिन सिर्फ नॉलेज के ज़रिये वो अपनी जिंदगी में आगे नहीं बढ़ सकता क्योंकि पढ़ाई के अलावा ऐसी बहुत सारी बातें है जो उसे पता होनी ज़रूरी है जैसे की लोगों से बात कैसी करनी है, अपनी सोच को कैसे रखना है, अपने समय का इस्तेमाल कैसे करना है, आत्म अनुशासन में कैसे रहना है इसके अलावा और भी कुछ बातें है जिससे की वो अपने व्यक्तित्व (Personality) को अच्छी तरीके से निखार सकता है|

Personality Development Meaning in Hindi

  • Personality Development मतलब खुद को बेहतर बनाने और अपने व्यक्तित्व को निखारने की प्रक्रिया है जिसमे की हम Communication Skills, Body Language को सही रखना, Discipline में रहना, अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना, समय के साथ साथ नयी नयी स्किल्स को सीखना, पर्सनल हाइजीन और ड्रेसिंग सेंस ऐसी और भी कई सारी चीज़ों को सीखकर हम अपने व्यक्तित्व (Personality) का विकास (Development) करते है|

Personality Development Tips in Hindi

1) Communication Skills को सुधारिये:

Personality development communication skills

  • Personality development में Communication Skills का बहुत ही ज्यादा महत्व है| लोगों से बात करते वक़्त अपनी आवाज़ का लहजा (Tone) ठीक रखें, परिस्थिति के अनुसार अपनी आवाज़ में उतार चढ़ाव (Voice Modulation) करें, बात करते वक़्त सामने वाले से Eye Contact बनाये रखें, लोगों की बात अच्छे से सुने और फिर अपनी बात उनके सामने रखें  और आप को जो भी बोलना है वो साफ़ शब्दों में बोलें ताकि सामनेवाला आपकी बातों को ठीक से समझ सकें|

2) अपनी Body Language पर ध्यान दें:

  • अपने Body Language पर ध्यान दें मतलब की चलते वक़्त, बैठते वक़्त और खड़े होने पर अपने शरीर को सीधा रखें, कंधे मत झुकाइए, अपने शरीर को सिकुड़कर मत बैठिये ये सारी चीज़ें आपके Self Confidence की कमी को दर्शाती है|
  • किसी की बात सुनते वक़्त बीच बीच में सिर हिलाये (Face Nodding) ताकि सामनेवाले को पता चले की आप उनकी बात सुनने में Interested हो, बात करते वक़्त Hand Gesture का इस्तेमाल करें, परिस्थिति के अनुसार बात करते वक़्त अपने चेहरे पर हाव भाव रखें; ये सारी चीज़ें personality development के हिसाब से बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है|

3) पर्सनल हाइजीन maintain करें:

  • पर्सनल हाइजीन यानिकि व्यक्तिगत स्वच्छता भी Personality Development के लिए बेहद ज़रूरी है| जैसे रोज़ाना नहाना, रोज़ाना ब्रश करना, खाना खाने से पहले और शौच से आने के बाद हाथ धोना, नाख़ून कांटना, अपने गुप्तांगो (Private Parts) को साफ़ रखना, अपने बाहों के नीचे (Underarms) की सफाई करना, कान और नाक साफ रखना, खाँसते और छींकते वक़्त रुमाल का इस्तेमाल करना, अपने स्किन और चेहरे की देखभाल करना और अच्छे साफ़ सुथरे कपडे पहनना ये सभी चीज़ें पर्सनल हाइजीन में आती है|

4) ड्रेसिंग सेंस:

Personality development dressing sense

  • जैसा की आप को पता ही है की हम Situation के अनुसार कपड़े पहनते है यानिकि आप को ये पता होना चाहिए की कब क्या पहनना है बस इसी चीज़ को ड्रेसिंग सेंस यानिकि कपड़े पहनने का तरीका कहा जाता है| जैसे की अगर आप किसी पार्टी में जा रहे हो तो आप को पार्टी वेअर कपडे पहनने पड़ेंगे या फिर आप किसी मीटिंग में जा रहे हो तो आप को फॉर्मल कपडे पहनने पड़ेंगे| आपके ड्रेसिंग सेंस के Basis पर ही लोग आप को Judge करते है और लोगों पर आपकी छाप पड़ती है इसलिए ड्रेसिंग सेंस भी Personality Development में बहुत ही Important है|

5) अपनी कमजोरियों पर काम करें:

  • ज्यादातर लोग अपनी कमजोरियों से दूर भागते है और इसलिए वो खुद को ज्यादा बेहतर बना ही नहीं पातें| लेकिन जब आप अपने कमजोरियों को जानकर उनपर काम करते हो तब धीरे धीरे आपकी कमजोरियां दूर होने लगती है और आप खुद को पहले से बेहतर बना पाते हो| इसलिए अपनी कमजोरियों पर काम करना काफी ज्यादा ज़रूरी है|

6) अपनी ताकत (Strengths) को पहचानकर अपने लक्ष्य को चुनो:

  • Personality Development के लिए अपनी Strengths और अपने टैलेंट को पहचानो देखो की आप किस चीज़ में ज्यादा अच्छे हो जैसे की आप स्पोर्ट्स में अच्छे हो या आपकी इंग्लिश अच्छी है या फिर आप बच्चों को अच्छे से पढ़ा सकते हो ऐसी और भी कई सारी चीज़ें होंगी जो आप बेहतर तरीके से कर सकते हो तो आप उन चीज़ों पर काम करो और उसमे और ज्यादा बेहतर बनो और आगे जाकर आप अपने Strengths और टैलेंट के हिसाब से अपने लक्ष्य को चुनो|

7) आत्मविश्वास रखें:

  • आपके जीवन में चाहे कितनी भी कठिनाई क्यों न आये लेकिन आप कभी हिम्मत न हारे और अपने आपके ऊपर आत्मविश्वास बनाये रखें| अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए आप जिस चीज़ में कमजोर हो उसकी बार बार प्रैक्टिस करें, आज तक आपने जो कुछ भी Achieve किया है उसको याद करें, खुद को Motivate करें, किसी और से खुद की तुलना मत करें और अपने Comfort Zone से बाहर निकलकर नयी नयी चीज़ें सीखें इससे आपका self Confidence बढ़ जायेगा|

8) स्किल्स को सीखो:

  • Personality Development के लिए हमें कुछ स्किल्स को सिखना ज़रूरी है क्योंकि आज जमाना बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है और ऐसे में अगर आप स्किल्स नहीं सीखोगे तो जिंदगी में आप कही न कही पीछे रह जाओगे| आज के जमाने में आपके पास कम्युनिकेशन स्किल्स, लीडरशिप स्किल्स, राइटिंग स्किल्स, टाइम मैनजमेंट, प्रेशर हैंडलिंग स्किल्स, क्रिएटिव थिंकिंग स्किल्स और प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स ये सभी स्किल्स का होना ज़रूरी है|

9) अपनी सोच को बदले:

Personality development सोच को बदले

  • जिंदगी में आप को दुनिया को देखने और सोचने का तरीका बदलना होगा क्योंकि हमारे आस पास के लोगों की वजह से या फिर अतीत के कुछ घटनाओं की वजह से हमारी सोच बहुत ही नेगेटिव हो जाती है और इस वजह से हम अपने आप को ही कम आंकने लगते है और हम अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा करने के बारे में या फिर जिंदगी में आगे बढ़ने के बारे में सोच ही नहीं पातें है इसलिए अपनी पुराणी और नेगेटिव सोच को बदलना बहुत ही ज़रूरी है|
  • अपनी सोच को बदलने के लिए नेगेटिव लोगों से और बुरी आदतों से दूर रहे, अच्छी किताबें पढ़ें, खुद की काबिलियत पहचानकर खुद पर काम करें, अच्छे लोगों की संगत में रहे जो की आप को जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए मोटीवेट करें और आप को सपोर्ट करें इससे आपकी सोच बदल जायेगी, जीवन के प्रति आपका Attitude भी बदल जाएगा और इससे Personality Development में भी मदद मिलेगी|

10) शिष्टाचार (Etiquette) का पालन करें:

  • लोगों के साथ विनम्र रहे, बात करते वक़्त गलत शब्दों का प्रयोग न करें, अपना बर्ताव सही रखें, वक़्त आने पर थैंक यू और वेलकम शब्दों का प्रयोग करें, अपने चाल ढाल और उठने बैठने का तरीका सही रखें, समय के पाबंद रहें, दूसरों का मजाक उड़ाना या अपनी बातों से दूसरों को दुख पहुँचाना ये चीज़ें आप को नहीं करनी है, खाना खाते वक़्त जल्दबाजी न करें, मुँह बंद करके खाना चबाये और खाना खाते वक़्त टिश्यू पेपर या नैपकिन का इस्तेमाल ज़रूर करें ये सारी बातें Personality Development के हिसाब से बेहद Important है|

11) आत्म अनुशासन (Self discipline) में रहें:

  • Self discipline में रहने से हम अपने जरुरी काम को समय पर पूरा कर पाते है, हमारे अंदर self control आ जाता है और इसके कारण हम अपने समय का सही से इस्तेमाल करते है| Self Discipline में रहने के लिए अपनी इच्छाशक्ति को मजबूत करें, अपने लक्ष्य को चुनिए, खुद को कमिटमेंट दें , ज़रूरी कामों की लिस्ट बनाये और अपने लिए एक सही मेंटर चुनिए|

Conclusion

तो इस आर्टिकल के ज़रिये हमने जाना की कैसे हम अपनी body language को सुधार कर, पर्सनल हाइजीन को maintain रख कर, बात करने का तरीका का जानकर, ड्रेसिंग सेंस को improve कर के,  अपनी सोच को बदलकर, नए स्किल्स सिखकर और अपनी कमजोरियों पर काम कर के अपने व्यक्तित्व (personality) को अच्छा बना सकते है|

इन्हें भी पढ़ें

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो| Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments