Sunday, October 2, 2022
HomeMoney and businessMutual Fund में निवेश कैसे करें- म्यूचुअल फंड में निवेश करने के...

Mutual Fund में निवेश कैसे करें- म्यूचुअल फंड में निवेश करने के अधिक लाभ

आज कल ऐसे बहुत सारे options  मौजूद है जहा पर की आप अपने पैसे इन्वेस्ट कर के बाद अच्छा ख़ासा प्रॉफिट कमा सकते हो जैसे प्रॉपर्टी खरीदकर, कोई नया बिज़नेस स्टार्ट कर के याफिर शेयर मार्किट में इन्वेस्ट कर के। ऐसे ही एक और बेहतर ऑप्शन है जहा पर की आप अपने पैसे इन्वेस्ट कर सकते हो और वो है म्यूचुअल फण्ड वैसे अगर म्यूचुअल फण्ड के बारे में बात की जाए तो यहाँ पर बहुत से लोगों का पैसा इकठ्ठा किया जाता है और बाद में इन सारे पैसों को किसी ऐसी जगह पर इन्वेस्ट किया जाता है जहा से अच्छे रिटर्न्स मिले और इसी को म्यूच्यूअल फण्ड कहा जाता है।  

अब सवाल ये आता है की म्यूचुअल फण्ड में निवेश कैसे करें? क्योंकि जब तक आप को म्यूचुअल फंड में निवेश करने के सही तरीकों के बारे में पता नहीं होगा, तब तक आप म्यूचुअल फंड में निवेश नहीं कर सकते हैं। इसीलिए आज इस आर्टिकल के ज़रिये हम यही जानने की कोशिश करेंगे की हम कौन कौन से तरीकों से म्यूचुअल फण्ड में निवेश कर सकते है और साथ ही साथ हम यह भी जानेंगे की म्यूचुअल फण्ड में निवेश करने के क्या लाभ है। 

Mutual Fund me Invest Karne ka Tarika

  • जब भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने की बात आती है तो आपको Google Play Store  के अंदर बहुत सारे Apps मिल जाएंगे, जिनकी मदद से आप म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं जैसे कि – Groww, Ktrack, Investor, Mycams आदि
  • आप जब इन Apps के अंदर एक बार अकाउंट बना लेते हैं तो आप आसानी से इसके अंदर अपने पैसे निवेश कर सकते हैं। यह एक बहुत ही सरल प्रक्रिया है और जब एक बार आप इसके अंदर अकाउंट बना लेते हैं तो आप को निवेश करने में आगे चलकर कोई भी समस्या नहीं आती है क्योंकि यह ऑटोमेटिक काम करता है। 

म्यूचुअल फंड के अंदर मुख्य रूप से दो प्रकार के प्लान होते हैं, जिनकी मदद से आप निवेश कर सकते हैं; एक है डायरेक्ट प्लान और दूसरा है रेगुलर प्लान। 

यदि आप किसी भी एजेंट की मदद से म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो वह प्लान रेगुलर प्लान होता है लेकिन यदि आप बिना किसी एजेंट की मदद से म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो वह प्लान डायरेक्ट म्युचुअल फंड प्लान होता है। 

म्यूचुअल  फंड के अंदर आप दो तरीको से निवेश कर सकते हैं। 

1. SIP (सिस्टमैटिक निवेश मेंट प्लान)

2. Lump-Sum 

1 – SIP (सिस्टमैटिक निवेश मेंट प्लान) –

इस प्लान के अंदर आपको हर महीने कुछ पैसे म्यूचल फंड में निवेश करने होते हैं और इसके अंदर होने वाली सारी प्रक्रिया ऑटोमेटिक होती है। जब एक बारआप अपने बैंक अकाउंट से म्यूचुअल फंड में निवेश करने लग जाते हैं तो हर महीने ऑटोमेटेकली आपके खाते से फिक्स अमाउंट कटता है और म्यूचुअल फंड के अंदर जमा होता रहता है।  

2 – Lump-Sum –

यदि आप अपने पैसों को एक बार में ही म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं तो आपके लिए Lump-Sum एक बेहतर विकल्प हो सकता है। Lump-Sum के अंदर आप अपने पैसों को एक बार में ही निवेश कर सकते हैं। 

म्यूचुअल फंड में निवेश के लाभ

1. म्यूचुअल फण्ड में जोखिम कम है

अगर देखा जाए तो म्यूचुअल फण्ड में शेयर मार्किट की तुलना में जोखिम (Risk) कम है। इसलिए अगर आप अपने पैसे शेयर मार्किट में लगाकर ज्यादा जोखिम नहीं उठाना चाहते तो अपने पैसे म्यूचुअल फण्ड में निवेश करना आपके लिए एक बेस्ट ऑप्शन साबित होगा।      

2. Management System होता है

म्यूचुअल फंड में जितना भी पैसा लगाया जाता है उसको मैनेज करने के लिए एक मैनेजमेंट सिस्टम होता है, जिसकी मदद से सारे पैसे को अच्छी तरीके से मैनेज किया जाता है और उस मैनेजमेंट सिस्टम के अंदर बहुत सारे अनुभवी लोग होते हैं जिनकी अनुभव और हुनर से उस पैसे को ऐसी जगह पर निवेश किया जाता है जहां से अच्छा रिटर्न प्राप्त होता हैं। 

3. विविधता के साथ पैसे निवेश होते हैं –

म्यूचुअल  फंड के अंदर जो भी पैसा होता है उसको कभी भी एक जगह पर नहीं लगाया जाता है बल्कि उसको अलग-अलग जगह पर लगाया जाता है।  इसका फायदा यह होता है कि अगर एक जगह से नुकसान होता है तो बाकी की जगह से अच्छा मुनाफा मिलता है, इसलिए म्यूचुअल फंड में निवेश करना सुरक्षित होता है।

4. कम पैसे के साथ निवेश कर सकते हैं

आज की इस महंगाई में पैसे कमाना और पैसे निवेश करना मुश्किल होता जा रहा है लेकिन म्यूचुअल फंड के अंदर आप ₹ 500 के साथ निवेश कर सकते हैं और आप हर महीने इतनी ही धनराशि के साथ अपने निवेश को जारी रख सकते हैं और भविष्य के अंदर अगर आप अपनी इस धनराशि को बढ़ाना चाहते हैं तो आप आसानी के साथ बढ़ा सकते हैं।

5. दो विकल्पों के साथ निवेश कर सकते हैं

  • म्यूचुअल  फंड के अंदर आप दो विकल्पों (Options) के साथ निवेश कर सकते हैं। अगर आप कम समय के लिए निवेश करते हैं तो आपको म्यूचल फंड के अंदर वह विकल्प मिल जाता है और अगर आप लंबे समय के लिए निवेश करते हैं तो वह विकल्प भी आपको मिल जाता है,आप अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी फंड का चुनाव कर सकते हैं। 
  • अगर आप हर महीने कुछ ना कुछ धनराशि निवेश करना चाहते हैं तो आप SIP के माध्यम से कर सकते हैं और अगर आप एक साथ पैसे निवेश करना चाहते हैं तो आप Lump-Sum के माध्यम से कर सकते हैं।

6. Long-Term के लिए निवेश कर सकते है

  • अगर आप लंबे समय के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपको इसका बेहतरीन फायदा मिलता है क्योंकि लंबे समय के लिए निवेश करने पर इसके अंदर कंपाउंडिंग शामिल हो जाती है और इससे आप अच्छा खासा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। 
  • लेकिन अगर आप कम अवधि के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपको बहुत ही कम रिटर्न मिल पाता है, इसलिए म्यूचुअल फंड में लंबे समय के लिए निवेश करें। 

Conclusion

तो आज इस आर्टिकल के ज़रिये हमने म्यूचुअल फंड में निवेश करने के बारे में जाना जिसमे मुख्य रूप से दो ऑप्शन्स है पहला SIP (सिस्टमैटिक निवेश मेंट प्लान) जिसमें आप हर महीने अपने पैसे म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हो और दूसरा ऑप्शन है Lump-Sum जिसमें आप एक बार में ही अपने पैसों को म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हो|

इसके अलावा हमने म्यूचुअल फंड में निवेश करने के कुछ लाभ देखें जैसे की आप कम से कम पैसे निवेश कर सकते है, आप दो विकल्पों के साथ निवेश कर सकते है, म्यूचुअल फण्ड की मैनेजमेंट सिस्टम अच्छी होती है और आप लॉन्ग टर्म तक पैसे निवेश कर सकते है और अच्छा ख़ासा रिटर्न्स पा सकते है|    

इन्हें भी पढ़ें:

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो| Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments