MPIN क्या होता है? इसे कैसे Activate करे पूरी जानकारी

MPIN Kya Hota Hai | आज के इस डिजिटल युग के अंदर हर कोई Online Trancations करना पसंद करता है। सभी लोग अपने स्मार्टफोन के जरिए Online Trancation, Bill Payment लेन-देन और किसी भी प्रकार का भुगतान ऑनलाइन इंटरनेट बैंकिंग के जरिए आसानी से कर सकते हैं और इस पूरी प्रोसेस को आप अपने मोबाइल/लैपटॉप के माध्यम से कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपका मोबाइल नंबर बैंक खाते से लिंक होना अनिवार्य होता है। 

बैंक के किसी भी कार्य को मोबाइल के जरिए ऑनलाइन करने के लिए सिक्योरिटी के तौर पर Mpin Code की जरूरत होती है, जिसको ठीक ट्रांजैक्शन से पहले उपयोग में लिया जाता है, जिस तरह से ATM का इस्तेमाल करने से पहले पिन कोड की जरूरत होती है वैसे ही Online Trancations करने के लिए MPIN की जरूरत होती है तो दोस्तों अगर आप भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपके लिए यह जानना जरूरी है कि MPIN Kya Hota Hai 

इस लेख के अंदर हम आपको MPIN से रिलेटेड पूरी जानकारी आसान भाषा में देने वाले हैं कि MPIN Kya Hai, इसके फायदे क्या क्या है और इसको कैसे Activate करते हैं? की पूरी जानकारी Step by Step आपको मिलने वाली है तो चलिए जानते है ” MPIN Number Kya Hota Hai

 MPIN की Full Form क्या है?

MPIN की फुल फॉर्म “Mobile Banking Personal Identification Number “होती हैं। 

MPIN क्या होता है?  (What is MPIN in Hindi?)      

  • Meaning of MPIN in Hindi |   बैंक से संबंधित कार्यों को मोबाइल के जरिए ऑनलाइन करने के लिए एक पासकोड की आवश्यकता होती है, जिसको हम एमपिन के नाम से जानते हैं और इस इसको मोबाइल बैंकिंग व्यक्तिगत पहचान संख्या के रूप में भी जाना जाता है। इसकी संख्या 4 से 6 अंकों के बीच में होती है और आप इसका इस्तेमाल तब करते हैं जब आप कोई भी लेनदेन से संबंधित कार्य करते हैं। 
  • इसका इस्तेमाल आपको जागरूकता के साथ में करना चाहिए क्योंकि यह गुप्त कोड होता है, जिसको आप सिर्फ अपने माइंड में ही याद रख सकते हैं. इसको कहीं पर लिखना भी सही नहीं होता है और जैसे-जैसे आप इसका इस्तेमाल करते हैं वैसे वैसे ही आप इसको आसानी से याद भी रख पाते हैं। 
  • जब आप बैंक के अंदर अपने मोबाइल नंबर को बैंक खाते के साथ में लिंक कर देते हैं और उसके बाद अपने मोबाइल के अंदर किसी भी UPI एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं तो आपको एमपिन कोड दिया जाता है, जिसको आप अपने अनुसार सेट कर सकते हैं और इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 MPIN Code क्यों जरुरी है?

  • MPIN में मुख्य रूप से एक पासकोड होता है, जिसका इस्तेमाल बैंकिंग संबंधी लेनदेन के लिए किया जाता है और सरकार की तरफ से इस पासकोड को लोगों के पैसों को सुरक्षित रखने के लिए जारी किया जाता है .यदि आप भी मोबाइल बैंकिंग के फायदे ले र]’
  • हे हैं तो आपको इस पासकोड को एक्टिवेट करना अनिवार्य होता है .यदि आपके मोबाइल एप्लीकेशन के अंदर इस कोड का इस्तेमाल न किया जाए तो कोई भी व्यक्ति आपके खाते से पैसे निकाल सकता है और जब आप अपने मोबाइल एप्लीकेशन के अंदर इस कोड का इस्तेमाल कर लेते हैं तो आपका अकाउंट पूरी तरह से सुरक्षित होता है और आपके अलावा कोई भी आपके खाते से लेन-देन नहीं कर सकता है।

MPIN कैसे Activate करे

  • यहां तक आपने जान लिया होगा की “ MPIN Number Kya Hota Hai और यह कितना जरूरी होता है .आगे इस लेख के अंदर हम आपको बताने वाले हैं कि आप कैसे MPIN नंबर को आसानी से एक्टिवेट कर सकते हैं। 
  • MPIN नंबर को एक्टिवेट आप 2 तरीकों से कर सकते हैं .एक तो आप बैंक के अंदर मोबाइल बैंकिंग को एक्टिवेट करने के बाद बैंक के द्वारा ही आपको एक MPIN Number दिया जाता है, जिसको आप अपने अनुसार सेट कर सकते हैं। 
  • इसके अलावा बहुत सारे यूपीआई एप्लीकेशन जिनका इस्तेमाल करके भी आप एमपीएन को एक्टिवेट कर सकते हैं और उस MPIN को अपने अनुसार बना सकते हैं
  • जब आप MPIN को अपने मोबाइल फोन पर एक्टिवेट कर लेते हैं, उसके बाद आप सभी ट्रांजैक्शन आसानी से MPIN के माध्यम से कर सकते हैं । 

MPIN के फ़ायदे (Benefits of MPIN in Hindi)

  • Online Transactions को पूरी तरह से Safe बनाता है। 
  • एमपीएन को आप घर बैठे ही जनरेट कर सकते हैं और उसके अंको की सीमा 4 से 6 के बीच में होती है। 
  • MPIN को आप किसी भी समय पर बदल सकते हैं और अपने अनुसार सेट कर सकते हैं। 
  • एमपीन को याद रखना काफी आसान होता है। यदि आपका मोबाइल फोन किसी अन्य व्यक्ति की हाथ लग जाए तो वो कोई भी Transactions बिना MPIN के नहीं कर सकता है।         

MPIN को UPI में कैसे Activate करे? (How to activate MPIN in UPI?)

  • यदि आप किसी भी यूपीआई एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसके अंदर आप एमपीएन को नीचे दी गई प्रोसेस के अनुसार एक्टिवेट कर सकते हैं – 
  • सबसे पहले यूपीआई एप्लीकेशन जैसे कि Phonepe, GooglePe,Paytm  को अपने मोबाइल फोन के अंदर इंस्टॉल कर ले और उसके बाद बैंक से यूपीआई एप्लीकेशन को जोड़ ले। 
  • आप जिस भी यूपीआई ऐप से बैंक खाते को Link करते हैं, उसके बाद आपको Set Mpin करने का विकल्प मिलता है। 
  • अपने MPIN को अपने अनुसार बनाने के बाद में उसको कंफर्म करें। 
  • यहां तक प्रोसेस करने के बाद आपकी यूपीआई एप्लीकेशन के अंदर Add MPIN जनरेट हो जाता है, जिसका आप किसी भी वित्तीय लेनदेन के अंदर इस्तेमाल कर सकते हैं। 

MPIN का Use किन Transactions में होता है?

1) USSD बैंकिंग

2) IMPS

3) IVR

4) UPI पेमेंट

5) SMS बैंकिंग

MPIN Number Kya Hota Hai से जुड़े कुछ FAQs – 

1) – MPIN की Full Form क्या है?

  • MPIN की Full Form “Mobile Banking Personal Identification Number “होती हैं। 

2) –   MPIN का Use किन Transactions में होता है?

  • MPIN का Use USSD बैंकिंग, IMPS, IVR, UPI पेमेंट, SMS बैंकिंग  में होता है। 

3) –    MPIN भूलने पर क्या करें

  • यदि आप अपना MPIN भूल जाते हैं तो आप आसानी से यूपीआई एप्लीकेशन या फिर नेट बैंकिंग के जरिए अपना नया MPIN जनरेट कर सकते हैं।       

इन्हे भी पढ़े

निष्कर्ष (Conclusion)- MPIN Kya Hota Hai

आज हमने इस लेख के अंदर आपको ” MPIN Kya Hota Ha, MPIN Number Kya Hota Hai ” जानकारी दी है। यदि आप भी मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको एमपिन के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए और एमपीन क्या होता है? को विस्तार से इस लेख के अंदर हमने आपके साथ में शेयर किया है। 

MPIN एक गुप्त कोड होता है, जिसको सिर्फ अपने तक ही सीमित रखना चाहिए। इसे किसी भी अन्य व्यक्ति के साथ साझा नहीं करना चाहिए। आशा करते हैं कि इस लेख की जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें धन्यवाद। 

Leave a Comment