Monday, September 26, 2022
HomeHealth and FitnessEmotionally strong कैसे बने? Emotionally Strong बनने के तरीके

Emotionally strong कैसे बने? Emotionally Strong बनने के तरीके

हमारे जीवन में अक्सर कितने ही ऐसे पल आते है जहा पर हम भावनिक (Emotional) हो जाते है पर कई बार भावनाओं में आकर हम ऐसा कदम उठा लेते है जिसका आगे चलकर हमें पछतावा हो सकता है|

अक्सर थोड़े ज्यादा भावनिक (emotional) लोग सिर्फ अपने भावनाओं के चलते ही निर्णय लेते है और बाद में जाकर उन्हें इसके परिणाम भुगतने पड़ते है|

वैसे भावनिक होना अच्छी बात है और इससे हम लोगों की भावनाओं को जल्दी समझ पाते है, उनसे जल्दी जुड़ पाते है पर जीवन में ऐसे भी situations आते ही जहा पर की हमें सिर्फ भावनाओ के आधार पर नहीं बल्कि emotionally strong बनकर और थोडासा व्यवहारिक (Practical) दृश्टिकोण रख कर सोचना पड़ता है|

आज इस आर्टिकल के ज़रिये हम इसी के बारे में जानने की हम कोशिश करेंगे ताकि लोग हमारे भावनाओं का फायदा न उठा सकें या आगे जाकर हमें अपने किसी बात पर या किसी भी निर्णय पर पछतावा न हो सकें|

Emotionally strong बनने के तरीके

1) Emotionally strong बनने के लिए व्यवहारात्मक (Practical) सोच रखो:

  • जल्दी लोगों के बातों में मत आओ मतलब वो आप को कुछ भावनात्मक बातें बोलकर आप को किसी बात के लिए मना रहे है तो ऐसे में तुरंत ही भावनाओं में न बहे क्योंकि लोग अक्सर आप को भावनाओं के जाल में फासकर आपसे काम निकलवाते है या आपका फायदा उठाते है| इसलिए आप को हर चीज़ को व्यवहारात्मक (Practical) दृष्टी से भी देखना पड़ेगा और यही चीज़ आप को emotionally strong बनाती है नहीं तो इस भावनाओं के चक्कर में आप खुद का ही नुकसान कर बैठेंगे|

2) Emotionally strong बनने के लिए सोच समझकर निर्णय लें:

  • Emotionally strong बनने के लिए कौनसा भी निर्णय लेते वक़्त या किसी को वायदा (Commitment) देते वक़्त थोडासा सोच समझकर निर्णय लें| अत्याधिक गुस्से में या अत्याधिक ख़ुशी में या ज्यादा emotional होकर कोई भी निर्णय न लें| इसलिए निर्णय लेने से पहले उस निर्णय से भविष्य में क्या परिणाम हो सकते है इसके बारे में भी सोचे ताकि बाद में आप को पछताना न पड़ें|

3) Emotionally strong बनने के लिए ऐसे लोगों से सावधान रहे:

  • जो लोग आप को सिर्फ काम के वक़्त याद करते है और हर बार आपसे भावनिक (Emotional) बातें कर के करते है और आपसे कोई न कोई काम निकलवाते है और हर बार ऐसा दिखाते है जैसे वो बहुत तकलीफ में है और वही अगर आपका कुछ काम हो और उन लोगों की ज़रूरत हो तो ऐसे situation में वो लोग कोई न कोई बहाना देकर आप को टालते है तो ऐसे लोगों से सावधान होना ज़रूरी है|
  • ऐसे लोग मौका परस्त होते है वो सिर्फ आपका फायदा उठाना या आपसे कोई काम निकलवाने के लिए ही आपके साथ होते है| तो हर बार भावनिक होकर ऐसे लोगों के बातों में न आये कभी कभी इन्हें ना भी कहना सीखिए और और इस वजह से आप emotionally strong बनते है|

4) Emotionally strong बनने के लिए हद से ज्यादा तकलीफ मत सहो:

Emotionally strong ज्यादा तकलीफ मत सहो

  • अगर किसी बात से आप को तकलीफ हो रही है जैसे मानलो अगर किसी इंसान के व्यवहार की वजह से आप को तकलीफ हो रही है और आपके बार बार समझाने पर भी वो इंसान नहीं मान रहा है या फिर सिर्फ आप को ही हर बार गलत ठहरा रहा है या नीचा दिखा रहा है तो ऐसे में आप को भी उनके खिलाफ action लेना है और उन्हें साफ़ साफ़ बताना है की आप को ये सब पसंद नहीं है|
  • उसके बाद उस इंसान की किसी भी बात से दबना नहीं है क्योंकि लोगों के गलत व्यवहार के कारण जितना आप दबोगे उतना ही आप को लोग कमजोर समझकर और ज्यादा दबाने की कोशिश करेंगे इसलिए जो आप को तकलीफ देते है उनके खिलाफ खड़े रहना भी ज़रूरी है|

5) Emotionally strong बनने के लिए बिंदास होकर जिओ:

  • Emotional लोग अक्सर छोटी छोटी बातों को लेकर परेशान या दुखी हो जाते है या तनाव में आ जाते हो| | तो ऐसे में आप देखो की उन छोटी छोटी बातों से आपके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ रहा है और अगर उन बातों से आपके जीवन में कोई ख़ास प्रभाव नहीं पड़ रहा है तो उन बातों को नज़रअंदाज़ करो और उन बातों के बारे में सोचकर परेशान होने से अच्छा है की वही बिना किसी दबाव के बिंदास होकर जिओ इससे आप emotionally strong बनोगे|

6) Emotionally strong बनने के लिए किसीसे ज्यादा लगाव (Attachment) मत रखो:

Emotionally strong (Attachment) मत रखो

  • अगर आप को किसी इंसान के साथ अगर हद से ज्यादा attachment है तो ये बात ठीक नहीं है मतलब किसी इंसान से आप को इतना लगाव हो गया है की आप उनके बिना एक पल नहीं रह पाते और आप उस इंसान को लेकर बहुत बेकरार हो जाते हो तो ये आपके लिए सही नहीं है क्योंकि अगर आप किसीसे ज्यादा लगाव रखोगे और कल अगर वो इंसान किसी भी कारण की वजह से पास दूर हो गया तो आप को बहुत ज्यादा तकलीफ होगी|
  • इसलिए आप को इस तरह से खुद को मजबूत बनाना है की कल अगर वो इंसान आपसे दूर भी चला जाए तो आप उसकी वजह से अपनी खुद की जिंदगी तबाह नहीं करोगे और समय रहते ही अपने आप को संभालोगे और उस तकलीफ से बाहर निकल आओगे|

7) Emotionally strong बनने के लिए ये बात भी याद रखो:

  • जो चीज़ें आपके control से बाहर है उन चीज़ों के बारे में ज्यादा मत सोचो क्योंकि जीतना आप चीज़ो को control करने की कोशिश करेंगे उतना ही ज्यादा आप परेशान हो जाओगे और इस वजह से आप भावनात्मक और मानसिक रूप से भी कमजोर हो जाओगे| इसलिए अगर आप को emotionally strong बनना है तो कुछ चीज़ों के बारे में न सोचना ही बेहतर है|

इन्हे भी पढ़ें

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो| Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments