Monday, November 28, 2022
HomePersonality Developmentड्रेसिंग सेंस अच्छा कैसे करे? Dressing Sense Tips in Hindi

ड्रेसिंग सेंस अच्छा कैसे करे? Dressing Sense Tips in Hindi

आप जब भी किसीसे मिलने जाते हो तो सामनेवाले की नज़र सबसे पहले आपके कपड़ों पर ही जाती है और वो आपके कपड़ों से ही आप को जज करता है और आपके साथ कैसे बर्ताव करना है ये decide करता है| मतलब की आप किस तरह के कपडे पहनते हो ये बात आपके पुरे पर्सनालिटी पर प्रभाव डालती है|

इसलिए हमें इतनी dressing sense की समझ होनी चाहिए की हमें situation के हिसाब से हमें कब क्या पहनना है और कौनसी ज़रूरी चीज़ों का ध्यान रखना है| एक बार आप को dressing sense समझ आ गयी तो आपके कपड़े पहनने का तरीका पूरी तरह से बदल जाएगा जिससे की आपकी पर्सनालिटी में और निखार आ जाएगा और सामने वाले लोगों पर आपकी अलग ही छाप पड़ेगी|

Dressing sense का मतलब (Dressing sense meaning in hindi)

  • Dressing sense का मतलब ये है की परिस्थिति (Situation) के अनुसार आप को कब क्या पहनना है इसकी समझ होनी चाहिए| जैसे की अगर आप किसी पार्टी में जा रहे हो तो जाहिर सी बात है की आप को कोई पार्टी वेअर कपडे पहनने चाहिए या फिर आप किसी मीटिंग में जा रहे हो तो आप को फॉर्मल कपड़े पहनने चाहिए; तो इसी को dressing sense यानिकि कपड़े पहनने की समझ कहा जाता है|

Dressing sense tips in hindi

1) कपडे साफ सुथरे होने चाहिए:

Dressing sense कपडे साफ सुथरे होने चाहिए

  • आपने जो भी कपडे पहन रखे है वो साफ़ सुथरे होने चाहिए और इस्त्री (Ironed) किये हुए होने चाहिए हालाँकि ये बात पर्सनल हाइजीन में आती है लेकिन यही सबसे ज्यादा ज़रूरी बात है| क्योंकि आपने जो कुछ भी पहना हो लेकिन अगर वो स्वच्छ और साफ (Neat & clean) नहीं है तो फिर आप कितने भी अच्छे कपडे क्यों न पहनो लेकिन आप लोगों पर अपनी अच्छी छाप नहीं छोड़ पाओगे|

2) कपड़ों की फिटिंग सही होनी चाहिए:

  • Dressing sense के हिसाब से आपने जो भी कपडे पहने है वो न ज्यादा लूज़ होने चाहिए न ज्यादा टाइट होने चाहिए बल्कि कपड़ों का चुनाव करते वक़्त आप पर कौनसे साइज के कपडे अच्छी तरह से फिट होते है ये पता होना चाहिये| साइज में अगर गड़बड़ी हो गयी तो ऐसे में या तो वो कपड़े आप को लूज़ होंगे या टाइट और दोनों स्थिति में आप पर वो कपडे अच्छे नहीं दिखेंगे और आप उन कपड़ों में खुद को असुविधाजनक (Uncomfortable) महसूस करोगे|
  • अगर आप चाहते हो की कपडे आप पर अच्छी तरह से फिट हो तो आप अपनी शरीर को सही आकार में लाने की कोशिश करें इसके लिए आप अपना वजन कम करें, रोज़ना हैल्थी डाइट को फॉलो करें, रोज़ाना एक्सरसाइज करें जिससे की आप अपने शरीर को सही आकार में ला सको और जो भी कपडे आपने पहने है वो आप पर अच्छे से फिट हो|

3) कलर कॉम्बिनेशन:

  • वैसे देखा जाए तो जो कलर आप के स्किन टोन को ज्यादा सूट करता है उस कलर के कपड़े आप पहने| जैसे की गहरे रंग की त्वचा (Dark skin) पर हमेशा हलके (Light) कलर अच्छे लगते है जैसे की light blue, light grey, pink या फिर light purple| अगर आपकी त्वचा गोरी (fair) या फिर हलके भूरे (Light skin) रंग की है तो आप गहरे रंग के कपड़ों में अच्छे लगते है जैसे की dark blue, red, dark grey या फिर black|
  • अब ये तो हो गयी स्किन टोन और उसपे जचने वाली कलर की बात लेकिन कपडे चुनते वक़्त आप को कलर कॉम्बिनेशन को ध्यान में रखना है मतलब की आपके कपड़ों के रंग अच्छे से मेल खाने चाहिए जैसे white शर्ट के साथ black पैंट या फिर light blue शर्ट के साथ grey कलर की पैंट तो इस तरह से आप को कपड़े चुनते वक़्त सही कलर कॉम्बिनेशन को चुनना है और साथ ही साथ वो कपडे आप पर जच रहे है या नहीं ये भी देखना है इसके लिए आप घरवालों की या फिर अपने दोस्तों की भी मदद ले सकते हो|

4) परिस्थति के नुसार कपड़े पहने:

Dressing sense परिस्थति के नुसार कपड़े पहने

  • आप को कब क्या पहनना है यानिकि परिस्थिति के अनुसार आप को कौनसे कपडे पहनने है ये आप को पता होना चाहिए और ये बात dressing sense के हिसाब से बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है|
  • ऑफिस में या फिर इंटरव्यू में पुरुष फॉर्मल कपडे और चाहे तो उसके साथ में ब्लेजर भी पहन सकते है और महिलाए साड़ी, सलवार सूट या फिर स्कर्ट सूट पहन सकती है|
  • शादी, रिसेप्शन, पार्टी या फिर किसी छोटे बड़े फंक्शन में पुरुष कुर्ता पैजामा, शेरवानी, बंदगला, धोती कुर्ता, फंक्शनल ब्लेजर या फिर नेहरू जैकेट पहन सकते है और महिलाए लाइट वेट डिज़ाइनर साड़ी, चूड़ीदार, सलवार कमीज, लेहेंगा चोली, घागरा चोली, सलवार सूट, अनारकली सूट या फिर इंडो वेस्टर्न सूट पहन सकती है|
  • गेट टुगेदर पार्टी में पुरुष जीन्स टी शर्ट, जैकेट, फॉर्मल कपडे पहन सकते है और महिलाए लेगिंस और कुर्ती, जीन्स टॉप, प्लाज़ो कुर्ता और डंगरी पैटर्न ड्रेसेस पहन सकती है|
  • छोटे या लंबा सफर (Travelling) के वक़्त पुरुष कैजुअल पैन्ट्स, कार्गो पैन्ट्स, टी शर्ट या हाफ फॉर्मल शर्ट ये सब पहन सकते है और महिलाए कुर्ता लेगिंस, कुर्ता पैजामा, टीशर्ट कैजुअल पैन्ट्स और कुर्ता प्लाज़ो पैन्ट्स पहन सकती है|

5) ट्रेंड का ध्यान रखिये:

  • जब भी dressing sense की बात है तब ट्रेंड का भी ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है यानिकि इस चीज़ का ध्यान रखिये की लोग आज कल कैसे कपडे पहन रहे है याफिर किस प्रकार के फैशन को फॉलो कर रहे है और हिसाब से आप अपने dressing sense में बदलाव कर सकते हो|
  • हा एक बात याद रखो की कपड़ों का कोई भी नया ट्रेंड आये आपको पहले ये देखना है की वो कपडे आप पर जचते है या नहीं अगर जचते है तो उस ट्रेंड को फॉलो कर सकते हो और अगर नहीं तो आप उस ट्रेंड को फॉलो मत करो क्योंकि इससे आपके पूरी पर्सनालिटी बुरा प्रभाव पड़ता है|

6) किसी सेलिब्रिटी को फॉलो करें:

  • अपने dressing sense improve करने के लिए आप किसी ऐसे सेलिब्रिटी को फॉलो करो जिसके कपडे पहनने का तरीका अच्छा हो और वो जिस तरह के कपडे तरह के कपडे पहनते हो उस तरह कपड़े आप पर भी जचते हो| हा लेकिन याद रखें की आपको same to same उनके कपड़ों का स्टाइल copy नहीं करना है बल्कि आपको उनके कपडे पहनने के पैटर्न को और कपडे पहनने के तरीके को अच्छे से समझना उससे आईडिया लेना है और अपने हिसाब से उसे फॉलो करना है|

7) एक्सेसरीज़:

  • Dressing sense में कपड़ों के साथ साथ आप को अपनी एक्सेसरीज़ जैसे की आपकी घडी, वॉलेट, बेल्ट, जूते और गॉगल्स इन सब चीज़ों पर भी आप को ध्यान देना है|
  • आप ऑफिस में, किसी मीटिंग में या फिर किसी इंटरव्यू में जाते वक़्त चैन वाली घडी पहन सकते हो और पार्टी में, छोटे बड़े फंक्शन में या फिर लंबे सफर के दौरान आप स्पोर्ट्स या फिर लेदर बेल्ट वाली घडी पहन सकते हो|
  • आप ऑफिस में, किसी मीटिंग में या फिर किसी इंटरव्यू में जाते वक़्त फॉर्मल जुते पहन सकते हो और पार्टी में, छोटे बड़े फंक्शन में या फिर लंबे सफर के दौरान आप कैजुअल जूते पहन सकते हो| अपने जूतों को हमेशा साफ़ रखो और समय समय पर उन्हें पॉलिश करो क्योंकि आदमी की पहचान उसके जूतों से होती है इसलिए अगर आपके जूते गंदे होंगे तो सामनेवाले पर इसका अच्छा असर नहीं पड़ेगा इसके अलावा आपके बेल्ट का कलर और आपके जूते का कलर एक होना चाहिए|
  • आपके वॉलेट में बरसों पुराने कागज, पुराने टिकट्स या फिर फटे पुराने नोट नहीं होने चाहिए और साथ ही साथ आपका वॉलेट फटा हुआ नहीं होना चाहिए नहीं तो भले ही आपके पास कितने ही पैसे हो लेकिन आपके वॉलेट की वजह से लोग आप को जज करेंगे|

8) पर्सनल हाइजीन और ग्रूमिंग:

Dressing sense पर्सनल हाइजीन और ग्रूमिंग

  • ऐसा नहीं है की सिर्फ अच्छे और साफ़ सुथरे कपड़े पहनने से आपके पर्सनालिटी में निखार आ जाएगा बल्कि dressing sense को improve करने के लिए आपको अपने पर्सनल हाइजीन का भी ख़याल रखना होगा|
  • जैसे की रोज़ मुँह की सफाई करना, हाँथ धोना, नहाना, नाख़ून काटना, स्किन और चेहरे की देखभाल करना, हाथ धोने पर या फिर खांसते और छींकते वक़्त रुमाल का इस्तेमाल करना ये सभी चीज़ें पर्सनल हाइजीन में आती है| इसके अलावा शरीर की बदबू से बचने के लिए आप परफ्यूम और डिओडरंट का भी इस्तेमाल कर सकते हो|
  • इसके अलावा आप अपने ग्रूमिंग पर भी ध्यान दें यानिकि अपने बालों को अच्छा और साफ रखें, क्लीन शेव करें या फिर आप दाढ़ी रखना भी चाहते हो तो उसे एक प्रॉपर शेप में रखें|

Conclusion

तो आज इस आर्टिकल के ज़रिये हमने जाना की कैसे हम अपनी dressing sense को improve कर के अपनी पर्सनालिटी में चार चाँद लगा सकते है और इसके लिए हमें कुछ ज़रूरी चीज़ों पर ध्यान देना होगा जैसे की situation के हिसाब से कपड़ों का चुनाव करना, ट्रेंड का ध्यान रखना, किसी सेलिब्रिटी डिज़ाइनर को फॉलो करना, कपड़ों के कलर कॉम्बिनेशन और कपड़ों की फिटिंग का ध्यान रखना, एक्सेसरीज को सही से चुनना और साथ ही साथ अपने पर्सनल हाइजीन और ग्रूमिंग पर देना; ये सभी मुख्य तौर पर dressing sense में शामिल है|

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो| Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments