Sunday, November 27, 2022
HomeBiographyBill Gate Biography in Hindi | दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति की...

Bill Gate Biography in Hindi | दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति की कहानी

बिल गेट्स इस धरती पर मौजूद सबसे अमीर आदमी में से एक है। बिल गेट के पास लगभग 132 US Dollar इतनी संपत्ति है। बिल गेट्स हर 1 मिनट के अंदर लगभग 15 लाख रुपए कमा लेते हैं और जब तक बिलगेट जिंदा रहेंगे,तब तक ऐसे ही कमाते रहेंगे। 

कहा जाता है कि अगर बिल गेट्स का अपना एक अलग देश होता तो वह इस दुनिया का 37 वा सबसे अमीर देश होता। दोस्तों सफलता के इस मुकाम को हासिल करने के लिए बिल गेट्स ने जो भी अपने जीवन में किया है आज हम वो सब कुछ आपके साथ साझा करने जा रहे हैं, इसलिए इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें-

Bill Gate Biography in Hindi | Bill Gate की जीवनी 

नाम (Name) – विलियम हेनरी गेट्स

जन्म (Birth) – 28 अक्टूबर, 1955, सीऐटल, वॉशिंगटन(USA)

पिता( Father ‘name) – बिल गेट्स सीनियर 

माता( Mother ‘name) – मैरी मैक्सवेल गेट्स 

पत्नी(Wife) – मेलिंडा गेट्स

बच्चे(Children) – फोवे अडले गेट्स, रोरी जॉन गेट्स, निफर कैथरीन गेट्स 

शिक्षा (Education) – हार्वर्ड विश्वविद्यालय 

बिल गेट्स का शुरुआती जीवन और शिक्षा (Bill Gates Early Life and Education):

  • बिल गेट्स का जन्म 28 अक्टूबर 1955 को सीऐटल, वॉशिंगटन(USA) में  हुआ था। जब बिल गेट्स बड़े हुए थे तो उनके माता-पिता ने ही उनका दाखिला लेक साइड स्कूल के अंदर करवाया था। जो कि उस समय का सबसे अच्छा स्कूल माना जाता था और उस समय स्कूल के अंदर बिल गेट्स पढ़ाई में  बहुत ही इंटेलिजेंट थे। 
  • उनके अंदर बचपन से ही पढ़ने की एक अलग ही भूख थी। बिल गेट्स घंटों तक पुस्तकालय के अंदर किताबों को पढ़ते रहते थे। सन 1969 में  बिल गेट्स ने अपनी हाई स्कूल की शिक्षा शुरू की थी और यह वह दौर था जब इंसान चांद के ऊपर गया था और यह मिशन कंप्यूटर की वजह से ही सफल हुआ था और उस समय एक कंपनी ने लेक साइड स्कूल को अपने कंप्यूटर विद्यार्थियों को सिखाने और जानने के लिए दिए थे और बिल गेट्स तो पहले से ही किसी भी चीज को जानने के बारे में इच्छुक रहते थे और उसी समय उन्होंने अपना दाखिला कंप्यूटर क्लास के अंदर करवा लिया था। 

बिल गेट्स के जीवन का Turning Point:

  • जल्द ही बिल गेट्स की कंप्यूटर में रुचि बढ़ने लगी थी और उनको हमेशा यह जानने की इच्छा रहती थी कि आखिर यह कंप्यूटर कैसे काम करता है और इसी वजह से बिल गेट्स ज्यादा से ज्यादा कंप्यूटर क्लास के अंदर ही बिताते थे और उसके बाद कंप्यूटर क्लास के अंदर उनकी Paul Allen से उनकी मुलाकात हुई थी। 
  • पॉल एलन, बिल गेट्स से 2 साल बड़े थे और Paul की रुचि भी कंप्यूटर के अंदर ही थी। जिसकी वजह से बिल गेट्स और Paul बहुत जल्द एक दूसरे के दोस्त बन गए थे और उस समय कोई सोच भी नहीं सकता था कि ये दोनों मिलकर दुनिया को पूरी तरह से बदल कर रख देंगे। 
  • सन 1970 में जब बिल गेट्स सिर्फ 15 साल के थे। तब उन्होंने अपने दोस्त के साथ मिलकर Traf-o -data नाम का एक ऐसा कंप्यूटर प्रोग्राम बनाया था जो यातायात प्रभाव को मापता था और इसके लिए उनको पूरे $20000 मिले थे जो कि उनकी पहली कमाई थी और इसके बाद बिल गेट्स ने टेक्नोलॉजी की दुनिया में कदम रख दिया था। 
  • बिल गेट्स अपने दोस्त के साथ मिलकर अपनी खुद की कंपनी खोलना चाहते थे लेकिन उनके माता-पिता ने उनको ऐसा करने से रोका और बोला की पहले तुमको अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करनी होगी और उसके बाद बिल गेट्स ने अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की और उसके माता-पिता ने उनका एडमिशन हावर्ड यूनिवर्सिटी के अंदर करवा दिया था और उनके पिता यह चाहते थे कि बिल गेट्स एक वकील बने और उसके लिए उनको कानून की शिक्षा देने के बारे में सोच रहे थे लेकिन बिल गेट्स का सपना जीवन में कुछ अलग करने का था 
  • लेकिन फिर भी बिल गेट्स ने अपनी रूचि कानून की पढ़ाई के अंदर जगाने की कोशिश की। लेकिन उनको कोई भी ऐसा विषय नहीं मिला जो उनको कंप्यूटर से अधिक प्रभावित करें। 

 माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना 

  • 1974 के अंदर Paul Allen को इलेक्ट्रॉनिक नाम की एक मैगजीन मिली। जिसके कवर पेज के ऊपर दुनिया के सबसे पहले मिनी कंप्यूटर Altair 8800 की घोषणा की गई थी। 
  • Paul ने यह सारी बात बिल गेट्स को जाकर बताई और इस बात पर दोनों बहुत अधिक खुश हुए क्योंकि वे दोनों जानते थे कि अगर यह कंप्यूटर बन गया तो इसको दुनिया का हर इंसान इस्तेमाल करेगा। 
  • Altair 8800 न्यू मैक्सिको के अंदर ED Roberts कंपनी के द्वारा बनाया गया था। इस कंपनी के मालिक रोबोट्स एक ऐसे व्यक्ति की तलाश कर रहे थे। जो एक ऐसा सॉफ्टवेयर बना सके जो इस कंप्यूटर को चला सके और अब बिल गेट्स और ऐलन के पास अपनी किस्मत को चमकाने का सुनहरा मौका था। 
  • इसके बाद इन दोनों दोस्तों ने इस कंपनी के साथ कांटेक्ट किया और घोषणा कर दी कि ये दोनों इस प्रोग्राम के ऊपर कार्य कर रहे हैं जो कि इस कंप्यूटर को चलाएगा और उसके बाद इन दोनों ने मिलकर हावर्ड कंप्यूटर सेंटर के अंदर 2 महीने लगातार कार्य किया और एक सॉफ्टवेयर बना डाला। 
  • सन 1975 के अंदर पॉल एलन उस कंप्यूटर को उस सॉफ्टवेयर को चेक करवाने के लिए गए थे और जब वह सॉफ्टवेयर उस कंप्यूटर के अंदर डाला गया तो वह बहुत ही अच्छे तरीके से कार्य कर रहा था और यह उन दोनों के जीवन का सबसे बेहतरीन पल था और इसका कंप्यूटर उद्योग पर एक ऐतिहासिक प्रभाव पड़ा था। 
  • सिर्फ 19 साल की उम्र में ही बिल गेट्स और पॉल एलन के साथ मिलकर सन 1975 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना कर दी थी 
  • बिल गेट्स की रूचि सिर्फ सॉफ्टवेयर बनाने के अंदर नहीं थी बल्कि अपने बिजनेस को बड़े लेवल पर लेकर जाने की भी थी। जरूरत पड़ने पर कंपनी के अंदर बनाए गए कोड को बिल गेट खुद भी चेक करते थे और उसमें से गलतियों को निकालते थे।
  • बिल गेट्स की मेहनत की वजह से कंपनी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही थी और कंपनी धीरे-धीरे IBM, Apple की तरह आगे बढ़ रही थी। उसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने अपने सॉफ्टवेयर को अलग-अलग तरीकों से बनाना शुरू किया और दूसरी कंप्यूटर कंपनियों को बेचने लग गए थे। 
  • सन 1978 के आखिर में आते-आते सॉफ्टवेयर की बिक्री 10 लाख से भी ज्यादा हो गई थी। उसके बाद कंपनी बहुत ही तेजी के साथ और बहुत ही कम समय के अंदर माइक्रोसॉफ्ट के कर्मचारियों की संख्या 13 से बढ़कर 128 हो गई थी। 
  • सन 1980 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के पास एक बहुत बड़ा मौका आया था। जिसने इस कंपनी को पूरी तरह से बदल कर रख दिया था कि दुनिया की सबसे बड़ी कंप्यूटर को बनाने वाली कंपनी IBM अपने पर्सनल कंप्यूटर के लिए माइक्रोसॉफ्ट को सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कहा। उसके बाद उन्होंने IBM कंपनी के लिए एक नया सॉफ्टवेयर बनाया और उसके बाद कंपनी की ग्रोथ तेजी के साथ बढ़ी। 
  •  इसके बाद अलग-अलग कंप्यूटर कंपनियों के द्वारा माइक्रोसॉफ्ट कंपनी को नए नए सॉफ्टवेयर बनाने के लिए पेशकश की गई थी और तब से लेकर अब तक माइक्रोसॉफ्ट कंपनी अपने बिजनेस को इस लेवल पर लेकर गई है जिसकी कल्पना कोई सपने में भी नहीं कर सकता है और आज के समय में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की नेट वर्थ $2.5 Trillon है। 

Bill Gates Quotes | बिल गेट्स के प्रेरणादायक विचार 

मेरा मानना है कि अगर आप लोगों को समस्याएं दिखाएं और आप उन्हें समाधान दिखाएं तो वे कार्रवाई करने के लिए बाध्य हो जायेंगे। 

मैं इनोवेशन में यकीन रखता हूँ और जिस तरीके से आप इनोवेशन प्राप्त करते हैं वो है रिसर्च को फंड करना और बेसिक फैक्ट्स को सीखना।

अग र किसी को कोच की ज़रुरत होती है।ये मायने नहीं रखता कि आप एक बास्केटबाल प्लेयर हैं,एक टेनिस खिलाड़ी हैं, एक जिमनास्ट हैं या एक ब्रिज प्लेयर।

मैं लकी था कि मैं ऐसी चीज में लग पाया और योगदान दे पाया जो ज़रूरी था- वो है लोगों को सॉफ्टवेयर द्वारा सशक्त बनाना।

प्रभावी परोपकार के लिए बहुत रचनात्मकता चाहिए होती है- वैसा ही ध्यान और कौशल जो व्यापार खड़ा करने में चाहिए होता है।

प्रोग्रामर बनने की तैयारी करने का सबसे अच्छा तरीका है प्रोग्राम लिखना,और उन महान प्रोग्राम्स का अध्यन करना जो और लोगों ने लिखे हैं।

अगर आप लोगों को टूल्स दे दें,और वे अपनी स्वाभाविक क्षमता और जिज्ञासा का इस्तेमाल करें, तो वे चीजों को ऐसे बना देंगे जो आपकी उम्मीद से कहीं ज्यादा आपको आश्चर्य में डाल देगा।

बिजनेस में यूज की जाने वाली किसी भी टेक्नोलॉजी का पहला नियम है कि एफ़ीशियेंट ऑपरेशन में ऑटोमेशन लाने से एफ़ीशियेंसी बढ़ेगी। दूसरा नियम है कि इनएफ़ीशियेंट ऑपरेशन में ऑटोमेशन लाने से इनएफ़ीशियेंसी बढ़ेगी।

हर दिन हम कहते हैं, ‘हम इस कस्टमर को खुश कैसे रख सकते हैं?हम ऐसा करके कैसे इनोवेशन में आगे निकल सकते हैं, क्योंकि अगर हम ऐसा नहीं करेंगे, तो कोई और कर देगा।

अगर कोई चीज डेवलप करना महंगा है,और इसके लिए किसी को पे नहीं किया जा रहा है तो वो डेवलप नहीं होगी। इसलिए आप डिसाइड करिए: क्या आप सॉफ्टवेयर लिखा जाना चाहते हैं या नहीं। 

इन्हे भी पढ़े

Conclusion

आज के इस आर्टिकल Bill Gate Biography in Hindi के अंदर हमने बिल गेट्स के जीवन के बारे में बात की है। आशा करते हैं कि आपको बिल गेट्स के जीवन से जरूर कुछ प्रेरणा मिली होगी और अगर आप भी अपने जीवन में बिल गेट्स की तरह ही कुछ करना चाहते हैं तो आप इनके जीवन से बहुत कुछ सीख सकते हैं और जीवन में आगे बढ़ सकते हैं। 

अगर आपको इस लेख Biography of Bill Gate in Hindi” की जानकारी पसंद आई तो इसको अपने दोस्तों के साथ में शेयर जरूर करें धन्यवाद। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments