Monday, September 26, 2022
HomePersonality DevelopmentCommunication Skillsबेहतर कम्युनिकेशन स्किल्स के लिए इन गलतियों को आज ही सुधारें

बेहतर कम्युनिकेशन स्किल्स के लिए इन गलतियों को आज ही सुधारें

हम में से कई सारे लोग बातें तो बहुत ज्यादा करते है पर कभी कभी बातचीत करते वक़्त हमसे ऐसी गलतियां हो जाती है जिन का हमे बाद में पछतावा होता है|

बातचीत के दौरान हमें क्या बोलना है, कितना बोलना है, कब बोलना है और अपनी बात किस तरह से दूसरों के सामने रखनी है इन सब बातों का पता होना बहुत ही ज़रूरी है|

बातचीत करते आप को कुछ ज़रूरी बातों का खयाल रखना है और इसके बारे में ज्यादातर लोगों को पता ही नहीं और इसी वजह से वो अपनी कम्युनिकेशन स्किल्स में मात खा जाते है|

तो आईये इस आर्टिकल के ज़रिये कम्युनिकेशन स्किल्स से जुडी उन ज़रूरी को हम जान लेते है ताकि बातचीत करते समय आपसे कोई गलतियां न हो और हम दूसरों पर अपनी एक अच्छी छाप छोड़ सकें|

1) बात को बीच में मत काटो:

  • अगर आपसे कोई बात कर रहा है तो उसकी पूरी बात को सुने बिना उनकी बात को बीच में मत काटो क्योंकि ये चीज़ कम्युनिकेशन स्किल्स के खिलाफ है| इससे सामने वाला जो आपसे कहना चाहता है वो आप को अच्छे ढंग से नहीं कह पायेगा और कही न कही उसकी बात अधूरी रह जायेगी और इसके बाद शायद उसका आपसे बात करने का मन ही न करें, इसलिए पहले सामनेवाले की बात अच्छे से सुनो और फिर अपनी बात उसके सामने रखो|

2) दूसरों की बातचीत में बाधा मत डालो:

कम्युनिकेशन स्किल्स दूसरों की बातचीत मे बाधा मत डालो

  • जब दो या दो से ज्यादा लोग आपस में बात कर रहे हो तब बिना किसी वजह के ज़बरदस्ती उनके बीच में बोलने की ज़रूरत नहीं है और अगर आप ऐसा करोगे तो हो सकता है वो आपके बातों के ऊपर ज्यादा ध्यान न दें और वो आप को एक तरह से इग्नोर कर दें इसलिए जब दूसरे बात कर रहे हो तो उनके बीच में मत बोलो|
  • हा अगर वो आपसे कोई राय मांग रहे हो या कुछ ऐसी परिस्थिति हो जहा पर आपका बोलना अनिवार्य हो तभी आप बोलें|

3) इधर उधर ध्यान मत दो:

  • बातचीत करते वक़्त अगर आपका ध्यान कही और है या फिर आप अपने मोबाइल में लगे हुए है तो ऐसे में ये बात सामनेवाले को बिलकुल भी पसंद नहीं आती ऐसे में सामनेवाला को बहुत ही अपमानजनक महसूस करता है और वो ये समझता है की आप को उनकी बातों में कोई रूचि (Interest) नहीं है और आप को उनकी कदर नहीं है|
  • इसलिए बात करते वक़्त सामने वाले की तरफ ध्यान दें और सही से eye contact कर के उनसे बात करें क्योंकि कम्युनिकेशन स्किल्स में यही चीज़ें सबसे ज्यादा ज़रूरी है| बीच में कोई जरूरी कॉल या मैसेज वगैरह आ जाए तो उनसे इजाजत लेकर कॉल या मैसेज का जवाब दो और उसके बाद खुद से बात शुरू करो|

4) बिना सोचे समझे मत बोलो:

  • सामनेवाले की बात पहले अच्छे से सुनो और आप को उसके बदले में जो कुछ भी बोलना है वो सोच समझकर बोलो| कई सारे लोग अक्सर यही गलती है सामने वाले की बात ठीक से सुनते भी नहीं और बिना सोचे समझे बस अपनी ही बात बताने लगते है इससे आप दोनों के बीच अच्छी तरह से बात नहीं हो पाती और ऐसे में सामनेवाला आप को जो बात बताना चाहता है वो बता ही नहीं पाता इसलिए पहले अच्छे से सुने फिर अपनी बात रखें |

5) दिखावा मत करो:

  • कुछ लोग अपनी बातचीत करते वक़्त सिर्फ अपना ही गुणगान गाते है, अपनी ही बातें बढ़ा चढ़ा कर बताने लगते है इससे सामनेवाला आपसे बहुत ही जल्द बोर हो जाएगा और उसका आपसे बात करने का इंटरेस्ट खत्म हो जाएगा|
  • इसलिए अपनी बातों को ज्यादा बढ़ा चढ़ा कर बताने की कोशिश मत करो और अपने बारे में सारी बातें बताने की कोशिश मत करो हो सकता है आपके पास बहुत नॉलेज हो या आप बहुत अमीर हो पर आप अपने बारे में जितना कम बताओगे उतना ही लोग आप को ज्यादा सुनना चाहेंगे और आप में इंट्रेस्ट लेंगे|

6) बातचीत को ठीक से खत्म करो:

कम्युनिकेशन स्किल्स बातचीत को ठीक से खत्म करो

  • चाहे आप किसीसे भी बात करो और कितनी भी बात करो पर जब आप बातचीत को सही ढंग से खत्म नहीं करते हो तो ऐसी चीज़ें आपके कम्युनिकेशन स्किल्स की कमी को दर्शाते है और कही न कही सामने वाले को भी ये बात ठीक नहीं लगती और उन्हें लगता है की आप को उनकी बातों में और उनमें ख़ास दिलचस्पी नहीं है|
  • इसलिए बातचीत को खत्म करते वक़्त “आपसे बात कर के अच्छा लगा”, “आपसे मिलकर अच्छा लगा”, “फिर ज़रूर मिलेंगे”, “आपकी सोच अच्छी लगी” इन जैसे वाक्यों का इस्तेमाल ज़रूर करें और आप हैंडशेक भी कर सकते हो इससे सामने वाले को ये महसूस होगा की आप को उनसे बात कर के वाकई में अच्छा लगा है  और वो आपसे इम्प्रेस भी हो जाएंगे| इसलिए बातचीत को हमेशा ठीक से खत्म करना बहुत ज़रूरी है|

7) ज्यादा पर्सनल सवाल मत करो:

  • कुछ लोग बातों बातों में सामनेवाले से कुछ ऐसी बात पूछ लेते है जिससे की सामनेवाला असुविधाजनक(Uncomfortable) महसूस करता है और फिर वो उस बात को टालने की कोशिश करता है और हो सकता है वो जल्द से जल्द बात खत्म करके आपसे छुटकारा पाने की कोशिश करें| इसलिए जब भी आप किसीसे बात कर रहे हो तो सामनेवाले से ज्यादा पर्सनल सवाल मत करो या कोई ऐसी बात मत करो जो उन्हें पसंद न आये|

8) आप खाली नहीं हो:

  • किसीसे भी हद से ज्यादा बात मत करो या किसीके लिए भी हद से ज्यादा available मत रहो ऐसा करने से दूसरों की नज़रों में आपकी value कम हो जायेगी| हा अगर कोई आपसे ज़रूरी बात करना चाहता है या फिर कोई आपसे ज़रूरी काम से मिलना चाहता है तो ऐसे में आप अपना समय उन्हें दे सकते हो|
  • लेकिन अगर आप अपने important काम को छोड़कर हमेशा ही लोगों से बात करने के लिए या उनके काम करने के लिए available रहोगे तो लोगों को लगेगा की आप तो हमेशा खाली ही रहते हो और आप हमेशा उनसे बात करने के लिए या उनके काम करने के लिए तैयार हो और ऐसे में लोग आप को बहुत हलके में लेंगे इसलिए हद से ज्यादा बातें मत करो, लोगों के लिए हद से ज्यादा available मत रहो और अपने काम को importance दो|

9) अपनी पर्सनल बातें मत बताओ:

  • कुछ लोगों को ये आदत होती है की वो बातों बातों में ही अपनी सारी पर्सनल बातें या कुछ सीक्रेट्स लोगों से शेयर कर देते है तो आप को ऐसा नहीं करना है क्योंकि आपकी पर्सनल बातें पता चलने पर लोग आपका फायदा उठा सकते है| हा अगर कोई भरोसेमंद इंसान हो, कोई क्लोज फ्रेंड हो तो उनसे बातें शेयर कर सकते हो पर हर किसी को अपनी पर्सनल बातें शेयर मत करो|

10) बातों को सिर्फ सुनना नहीं है:

  • ऐसा नहीं होना चाहिए की सिर्फ सामनेवाला ही आपसे बोले जा रहा है और आप बस चुप बैठ कर उन्हें सुनते जा रहे हो| सामनेवाले की बात खत्म होने पर आप को उन्हें उचित प्रतिक्रिया भी देनी है, बीच बीच में ”हम्म”, ”हा” या ”अच्छा” जैसे शब्दों का प्रयोग भी करना है इसके आलावा अगर सामनेवाले की कोई बात अच्छी लगे तो उनकी तारीफ भी करनी है इससे लोगों पर आपकी अच्छी छाप पड़ेगी और लोग आपसे बातें करना पसंद करेंगे|

11) आवाज़ को ठीक रखो:

  • परिस्थिति के अनुसार आप को कहां पे धीमी आवाज़ में बोलना है और कहा अपनी आवाज को तेज़ रखना है ये आप को समझना होगा और ये बात भी कम्युनिकेशन स्किल्स में बहुत ही ज्यादा ज़रूरी है| जैसे दुःख के मोहोल में, कोई पर्सनल या ज़रूरी या फिर कोई सीक्रेट बात बताते वक़्त आप को धीमी आवाज़ में बात करनी है और जहा पर आप लोगों के ग्रुप से बात कर रहे हो या कोई सेमिनार दे रहे हो तो आप को अपनी आवाज़ थोड़ी तेज़ रखनी है|
  • जब आप किसीसे नार्मल बातचीत कर रहे हो तो आप को अपनी आवाज़ न ज्यादा धीमी रखनी है न ज्यादा तेज़ बल्कि सामनेवाले को आप क्या बोल रहे हो ये अच्छे से सुनाई देना चाहिए उस हिसाब से आप अपनी आवाज़ रखें|

So guys आपको ये वाला article कैसे लगा ये comment section में ज़रूर बताना; साथ ही साथ कुछ suggestions हो तो बता देना और आपको किस topic पर article चाहिए ये भी बता देना|

आपका कोई personal question हो तो आप मुझे selfhelpinhindi@gmail.com पे मेल कर सकते हो|

Thank you, stay connected & love you guys…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments